नदी में 20 फीट नीचे कार गिरकर पलटी, सभी सुरक्षित

0

भोपाल। इटारसी के पास नेशनल हाईवे-69 पर केसला की सूखी नदी में पुल के 20 फीट नीचे बने कुंड में एक कार गिर गई और पलट गई। कार जब नीचे गिरी तो उसके अंदर मां और बच्चे सो रहे थे। गाड़ी के अंदर पानी भर चुका था और बच्चे चीख रहे थे। हिम्मत करके बाहर निकली मां ने मदद की गुहार लगाई, उन्होंने पानी में उतरकर कुछ लोगों के साथ मिलकर गाड़ी को सीधी करने की कोशिश की, लेकिन असफल रहीं। रस्सी बांधकर लोगों ने गाड़ी खींची : सूखी नदी की पुलिया के पास ही कन्हैया इवने की चाय की दुकान है। जयराम पवार अन्य लोग बैठे थे। कार पुलिया से नीचे गिरी। आवाज सुनकर रहवासी वहां गए। नदी में कार गिरी वहां करीब दो-ढाई फीट पानी था। कार के सभी गेट बंद होने से उसमें सवार 5 लोग फंस गए। वे चिल्लाने लगे। रोड से गुजरते राहगीर और लोग भागते हुए आए और गेट खोलकर जैसे-तैसे बाहर निकाला। नदी में अधिक पानी होता तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी। उसी समय इटारसी से दमुआ जा रहे कार सवार हरीश तिवारी रुके। रोशन शेख के परिचित होने पर वे अस्पताल पहुंचे और मदद की। फैमिली में दो बच्चे शामिल : सोमवार को दोपहर लगभग एक बजे पुलिया में गिरी इको स्पोर्ट कार थी। यह कार छिंदवाड़ा के रोशन शेख की है जिनकी मोबाइल शॉप है। कार में वे खुद, पत्नी रुबीना (30), बेटे फैजान शेख (10), शहजान (7) थे। गाड़ी ड्राइवर अमित चौहान चला रहा था। रोशन भोपाल में एक कार्यक्रम में शामिल होने रविवार सुबह 10 बजे छिंदवाड़ा से निकले थे।हादसे के बाद कार में फंसे लोग मदद के लिए आवाज लगाने लगे। कार गिरने की आवाज सुनकर रहवासी राहगीर पहुंचे। कार में फंसे लोगों को बाहर निकाला। इन्हें 108 एंबुलेंस सुखतवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई। शाम पांच बजे क्रेन बुलवाकर पुलिया में गिरी कार निकलवाई गई। कार साइड से लगाई और वह गिर गई नीचे : ड्राइवर अमित ने बताया करीब एक बजे रास्ते में केसला के पास पुलिया का हम पार करने वाले ही थे कि उससे पहले सामने से एक ट्रक गया। कार को नियंत्रित कर साइड लगाते उससे पहले ही नदी में गिर गई। हादसे में कार मालिक रोशन शेख को कंधे में चोट आई। रोशन ने बताया घटना के समय उनकी पत्नी बच्चे नींद में थे। पत्नी को मामूली चोट आईं। दोनों बच्चे सुरक्षित रहे। उपचार के बाद सभी को दूसरे वाहन से छिंदवाड़ा भेज दिया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.