जब-जब बांग्लादेश की जीत पर ‘सन्न’ रह गया हो क्रिकेट जगत

Bangladesh_pakबांग्लादेश क्रिकेट टीम ने जब इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा तो उसे बच्चा कहा जाता था। लेकिन इस बच्चे ने जल्द ही साबित कर दिया कि उसे बच्चा समझना कितनी बड़ी भूल है। बांग्लादेश हमेशा से आक्रामक क्रिकेट खेलता रहा है। टीम की सबसे अच्छी बात यही रही है कि उसे पता था कि जीत-हार खेल का हिस्सा है लेकिन अपना 100 फीसदी देना उनके हाथ में है।

एशिया कप के सेमीफाइनल जैसे मैच में बांग्लादेश ने बुधवार को पाकिस्तान को पटखनी दी और फाइनल का टिकट कटा लिया। बड़ी टीमों को हराना अब बांग्लादेश के लिए बड़ी बात नहीं रह गई है लेकिन एक नजर डालते हैं उस समय पर जब बांग्लादेश ने इंटरनेशनल क्रिकेट में बड़ा फेरबदल करना शुरू किया था।

1999 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान को किया था चारों खाने चित

1992 वर्ल्ड कप चैंपियन टीम पाकिस्तान जब 1999 में बांग्लादेश से हारी तो पूरा क्रिकेट जगत सन्न रह गया था। सईद अनवर, शाहिद अफरीदी, एजाज अहमद, इंजमाम उल हक, वसीम अकरम, वकार यूनिस और शोएब अख्तर जैसे सितारों से सजी पाकिस्तानी टीम को बांग्लादेश ने ग्रुप बी के एक मुकाबले में 62 रन से हराया था।
2004 में टीम इंडिया को पटखनी
बांग्लादेश में टीम इंडिया को तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी थी। बड़ी ही आसानी से टीम इंडिया पहला मैच जीत गई। उम्मीद की जा रही थी कि वीरेंद्र सहवाग, सौरव गांगुली, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धौनी और जहीर खान जैसे सितारों से सजी टीम इंडिया क्लीन स्वीप करके लौटेगी। लेकिन सीरीज के दूसरे मैच में बांग्लादेश ने 15 रनों से टीम इंडिया को हराया और सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली।
जब बांग्लादेश ने ऑस्ट्रेलिया को धोया
2005 में नेटवेस्ट सीरीज खेलने के लिए बांग्लादेश टीम इंग्लैंड पहुंची। यहां उसने ऑस्ट्रेलिया को हराकर पूरे क्रिकेट जगत में खलबली मचा दी थी। एडम गिलक्रिस्ट, मैथ्यू हेडन, रिकी पोंटिंग, माइकल क्लार्क, ग्लेन मैक्ग्रा से सजी ऑस्ट्रेलियाई टीम को बांग्लादेश ने कांटे की टक्कर दी और मोहम्मद अशरफुल की शानदार सेंचुरी के दम पर 5 विकेट से जीत दर्ज की।
2007 वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका को लगा था झटका
2007 वर्ल्ड कप के सुपर-8 में बांग्लादेश के सामने दक्षिण अफ्रीका की चुनौती थी। ग्रेम स्मिथ की कप्तानी में एबी डिविलियर्स, जैक्स कालिस, मार्क बाउचर, हर्शल गिब्स, शॉन पोलॉक और मखाया एनटिनी जैसे सितारों से सजी दक्षिण अफ्रीकी टीम को बांग्लादेश ने 67 रनों से धोया था। इस मैच के हीरो भी मोहम्मद अशरफुल रहे थे और उन्हें ही मैन ऑफ द मैच चुना गया था।
2012 एशिया कप में फाइनल में पहुंचा था बांग्लादेश
अपनी मेजबानी में बांग्लादेश ने 2012 एशिया कप के फाइनल में जगह बनाई थी, जहां उसे पाकिस्तान से हार का सामना करना पड़ा था। एशिया कप में बांग्लादेश ने भारत को एक मैच में कांटे की टक्कर दी और फिर जीत भी दर्ज की। गौतम गंभीर, सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, सुरेश रैना, महेंद्र सिंह धौनी और रोहित शर्मा जैसे बल्लेबाजों के दम पर टीम इंडिया ने 290 का लक्ष्य दिया था। बांग्लादेश ने चार गेंद शेष रहते ही लक्ष्य हासिल करके पांच विकेट से जीत दर्ज की थी।

2010 में न्यूजीलैंड का क्लीनस्वीप
पांच मैचों की वनडे सीरीज में बांग्लादेश ने न्यूजीलैंड को 4-0 से हराया था। एक मैच रद्द घोषित कर दिया गया था। यह बांग्लादेश क्रिकेट टीम की किसी बड़ी टीम के खिलाफ सीरीज की पहली बड़ी जीत भी थी। इस सीरीज के बाद से ही बांग्लादेश को क्रिकेट जगत बहुत गंभीरता से लेने लगा।
इसके बाद बांग्लादेश ने 2015 वर्ल्ड कप में क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए इंग्लैंड को हराया था। होम ग्राउंड पर पाकिस्तान, भारत और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज जीती थी। और बीती रात पाकिस्तान को एशिया कप में ‘करो या मरो’ मुकाबले में हराकर फाइनल का टिकट कटाया।

Comments are closed.