लारा का यह रिकॉर्ड 14 साल से नहीं तोड़ पाया कोई बल्लेबाज

0

मल्टीमीडिया डेस्क। वेस्टइंडीज क्रिकेट में ब्रायन लारा की अलग जगह है। लारा ने 14 साल पहले आज ही के दिन यानी 12 अप्रैल 2004 में टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी पारी खेली थी। एंटीगुआ टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ लारा ने 582 गेंद पर नाबाद 400 रन बनाए थे।

आज तक कोई बल्लेबाज यह रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन के नाम था, जिन्होंने 380 रन का निजी स्कोर बनाया था।

लारा ने एंटीगुआ टेस्ट की दूसरी पारी में यह करिश्माई पारी खेली थी। इस दौरान 43 चौके और 4 छक्के लगाए थे। 400वां रन बनाते ही कप्तान लारा ने पारी घोषित कर दी थी, लेकिन इंग्लैंड मैच ड्रा कराने में सफल रहा।

लारा का यह रिकॉर्ड नहीं बन पाता यदि उस टेस्ट में इंग्लैंड के विकेटकीपर गैरिएंट जोंस 359 रन के निजी स्कोर पर एक मुश्किल कैच लपक लेते। जोंस का वह पहला टेस्ट था।

लारा की उस पारी के बाद कभी ऐसा नहीं लगा कि यह रिकॉर्ड टूट सकता है। जुलाई 2006 में श्रीलंकाई बल्लेबाज महेला जयवर्द्धने ने कोलंबो टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 374 रनों की पारी खेली थी। लेकिन इनके बाद बीते 14 साल में कोई बल्लेबाज 350 रन के करीब भी नहीं पहुंचं पाया है।

टेस्ट मैच की शीर्ष पांच पारियां

  1. ब्रायन लारा (400* रन): इंग्लैंड के खिलाफ 2004 में एंटिगुआ टेस्ट में।
  2. महेला जयवर्द्धने (374 रन): दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2006 के कोलंबो टेस्ट में
  3. मार्क टेलर (334* रन): 1998 में पाकिस्तान के खिलाफ पेशावर टेस्ट में
  4. ग्राहम गूच (333 रन): 1990 में लंदन के लॉड्स मैदान पर भारत के खिलाफ
  5. माइकल क्लार्क (329* रन): 2012 में सिडनी टेस्ट में भारत के खिलाफ

कोहली ने इस मामले में लारा को पछाड़ा

जनवरी 2018 में भारतीय कप्तान और वर्ष के सर्वश्रेष्ठ आइसीसी क्रिकेटर विराट कोहली जोहानिसबर्ग टेस्ट से 12 अंक जुटाकर टेस्ट बल्लेबाजों की सर्वकालिक खिलाड़ी रैंकिंग में वेस्टइंडीज के महान खिलाड़ी ब्रायन लारा को पछाड़ने में सफल रहे।

कोहली ने तीसरे और अंतिम टेस्ट की शुरुआत 900 अंक से की थी और इस मुकाबले से उन्होंने 54 और 41 रन की बदौलत 12 अंक जुटाए।

इसका मतलब है कि उनके अब 912 अंक हैं और वह सर्वकालिक सूची में 26वें स्थान पर काबिज हैं जिसमें डॉन ब्रैडमैन 961 अंक लेकर शीर्ष पर हैं।

मौजूदा नंबर एक रैंकिंग के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ 947 अंक से सर्वकालिक सूची में दूसरे स्थान पर हैं। कोहली ने इस तरह 31वें से 26वें स्थान पर छलांग लगाई।

इस तरह उन्होंने लारा (911), केविन पीटरसन (909), हाशिम अमला (900), शिवनारायण चंद्रपाल (901) और माइकल क्लार्क (900) को पीछे छोड़ा।

कोहली अब हमवतन और आइसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम सुनील गावस्कर के करीब पहुंच गए हैं जिनके 1979 में इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट के बाद 916 अंक हुए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.