मूर्ति खंडित करना धर्मनिरपेक्षता को खंडित करने की साजिश : सिंधिया

0

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने त्रिपुरा और तमिलनाडु में मूर्तियां खंडित करने को धर्मनिरपेक्षता को खंडित करने की साजिश बताया है। भोपाल में कांग्रेस द्वारा आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में सिंधिया ने सरकार के संयम पर सवाल उठाए हुए कहा कि ‘भाजपा के सत्ता में आने पर मूर्तियों को निशाना बनाया जा रहा है। भाजपा भले ही देश में जीत दर्ज कर रही है, लेकिन इसके बावजूद लोगों की तकलीफें बढ़ती जा रही हैं।’

इस दौरान उन्होंने मध्यप्रदेश के मुंगावली और कोलारस उपचुनाव में मिली जीत को जनता की जीत बताया और कहा कि यह जीत कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की मेहनत की जीत है। साथ ही कांग्रेस के सभी नेताओं ने जिस तरह की एकजुटता दिखाई उसकी वजह से यह जीत हासिल हुई है। इस जीत का असर आने वाले विधानसभा चुनाव में देखने को मिलेगा। नेतृत्व के मसले पर पूछे गए सवाल से वह बेहद सलीके से किनारा कर गए और कहा – हर राज्य की परिस्थितियां अलग होती है और उसके हिसाब से नेतृत्व का निर्धारण किया जाता है।

सिंधिया ने चुनाव में प्रत्याशियों से पैसे लेने की बात का समर्थन किया और कहा कि – पैसा लेने में बुराई नहीं है, लेकिन टिकट उसी को दिया जाएगा, जो चुनाव जीतने में सक्षम होगा।

गठबंधन के सवाल पर उन्होने कहा कि ‘जो राजनीतिक दल कांग्रेस की विचारधारा से सहमत है या एक जैसी विचारधारा के हैं उनसे गठबंधन पर विचार किया जाएगा।’ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए उन्होने कहा कि ‘सीएम की 22 हजार घोषणाएं सिर्फ हवा मे हैं।’ प्रेस कांफ्रेस के दौरान कुछ लोगों ने जब अबकी बार सिंधिया सरकार का नारा लगाया तो सिंधिया ने उनको कांफ्रेस से बाहर करवा दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.