हिमाचल में तेज बारिश के साथ गिरे ओले, उत्तराखंड में बर्फबारी

0

नई दिल्ली। देश में मौसम को लेकर जारी चेतावनी के बाद मंगलवार को पहाड़ी राज्यों में मौसम खराब हुआ है। जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश में कुछ जगहों पर बर्फबारी तो कुछ जगहों पर ओलावृष्टि के साथ तेज बारिश हुई है। यह इतनी तेज थी कि शिमला में तो पूरी सड़क ओलों से पट गई मानों बर्फ गिरी हो।

वहीं राजस्थान में भी अंधड़ आया है जिसके बाद सभी जिलों के कलेक्टर्स को अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा उत्तराखंड के बद्रीनाथ धाम में फिर से बर्फबारी हुई है वहीं कई शहरों में बारिश की खबरें हैं।

इससे पहले सोमवार देर रात दिल्ली, नोएडा समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में आंधी ने लोगों को डरा दिया। इसके बाद अब

मौसम विभाग द्वारा देश के 13 राज्यों में मौसम को लेकर जारी अलर्ट के बाद सोमवार को बीकानेर से शुरू हुआ धूलभरी आंधी का नया दौर आधी रात के करीब दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद तक पहुंच गया। करीब 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवा ने पूरे इलाके को झकझोर दिया। इसके बाद राजधानी में आज तेज बारिश की आशंका जताई जा रही है।

मौसम को देखते हुए दिल्ली व एनसीआर में आज दूसरी पारी के सभी स्कूल बंद रहेंगे वहीं हरियाणा में पहले से ही दो दिन के लिए स्कूलों की छुट्टी घोषित की गई है। मौसम विभाग ने मंगलवार दोपहर बाद देश के 13 राज्यों में मौसम बिगड़ने व आंधी-तूफान के अलावा कुछ हिस्सों में बारिश की चेतावनी दी है।

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

ANI

@ANI

Himachal Pradesh: Keylong in Lahul Spiti received fresh snowfall this morning.

जयपुर सहित कई राजस्थान के कई शहरों में अंधड, जयपुर में कलक्टर ने जारी की एडवाइजारी

जयपुर सहित राजस्थान के कई शहरों और अलसुबह अंधड़ ने दस्तक दे दी। सोमवार शाम बीकानेर से उठा धूल का गुबार देर रात जोधपुर, नागौर, अजमेर, बाडमेर, सीकर होते हुए जयपुर तक आ पहुंचा। कई जगह रात में अंधड़ के साथ बारिश भी हुई।

जयपुर में जिला कलेक्टर ने दोपहर बारह बजे से शाम छह बजे तक तेज हवाएं चलने की आशंका को देखते हुए एडवाइजरी जारी की है और लोगों से कहा है कि जरूरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलें। वहींं स्कूलों में भी दस बजे ही छुटटी करने के आदेश दिए गए हैं।

कई पेड़ गिरे, एंबुलेंस में आग से दो जिंदा जले

तेज हवाओं के चलते दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम और गाजियाबाद में कई पेड़ धराशाई हो गए वहीं बिजली आपूर्ति बंद हो गई। वहीं दूसरी तरफ दक्षिण दिल्ली में तूफान के चलते एंबुलेंस में लगी आग के कारण दो एंबुलेंस जल गई वहीं इनमें सो रहे दो लोग जिंदा जल गए।

ANI UP

@ANINewsUP

: Massive dust storm hits Uttar Pradesh’s Meerut. All educational institutions to remain closed today due to thunderstorm alert for the region.

आज यहां खतरा

हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड, सिक्किम, ओडिशा, तेलंगाना, पूर्वोत्तर के कुछ इलाके, केरल, कर्नाटक, राजस्थान और उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश में धूल भरी आंधी चलेगी।

100 से ज्यादा मौतें हुई थीं

पिछले सप्ताह आए आंधी-तूफान ने उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कई हिस्से में तबाही मचाई। तूफान के कारण 100 से ज्यादा लोग मारे गए थे।

प्री मानसून की सामान्य गतिविधि : विशेषज्ञ

प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र दिल्ली के निदेशक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि आंधी-तूफान और बारिश की मुख्य वजह जम्मू-कश्मीर और हिमालय क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ का सक्रिय होना है। साथ ही उत्तर-पश्चिमी राजस्थान में चक्रवाती हवा चलना भी है। यह दोनों ही मौसम की सामान्य गतिविधि हैं और इस सीजन में हर साल होती हैं। मंगलवार दोपहर बाद अधिकतम 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलेगी। हवा में नमी है, इसलिए बाद में तेज बारिश की भी संभावना है। इसका प्रभाव सभी जगह एक-सा नहीं रहेगा।

उत्तराखंड-हिमाचल में अलर्ट मौसम के लिहाज से उत्तराखंड के लिए दो दिन चुनौती भरे हो सकते हैं। मंगलवार व बुधवार को राज्य में ओलावृष्टि के साथ 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। कुल्लू के मनाली सहित अन्य पर्यटन स्थलों में बर्फ के फाहे गिरे। गुलाबा से सैलानी वापस भेजने पड़े। बर्फबारी में फंसे मप्र के दो पर्यटकों को निकालामढ़ी और कोकसर रेस्क्यू टीम ने बर्फीले तूफान में फंसे पांच लोगों को सुरक्षित निकाल लिया।

बर्फबारी में फंसे मप्र के दो पर्यटकों को निकाला

सोमवार को लाहौल-स्पीति से मनाली की ओर आ रहे मप्र के दो पर्यटक ग्रांफू में फंस गए। प्रशासन से संपर्क करने पर रोहतांग दर्रे के दोनों ओर से रेस्क्यू टीमें हरकत में आ गईं। टीम की मदद से सभी पांच लोगों को रोहतांग के इस पार मढ़ी पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद सभी को सुरक्षित मनाली पहुंचाया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.