CBSE Paper leak: जांच जारी, लीक का संदिग्ध आरोपी हिरासत में

0

नई दिल्ली। सीबीएसई के 10वीं गणित और 12वीं अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने की जांच तेज करते हुए पेपर लीक के मुख्य आरोपी विकी को हिरासत में ले लिया है। हिरासत में लेने के बाद पुलिस आरोपी से पूछताछ की जा रही है वहीं मामले में कुछ छात्रों से भी सवाल पूछ रही है।

दूसरी तरफ विकी को हिरासत में लिए जाने के बाद उसके इस्टीट्यूट में पढ़ने वाले कई छात्र और उनके माता-पिता विकी के समर्थन में उतर आए हैं। छात्रों का कहना है कि उनके शिक्षक निर्दोष हैं और उन पर गलत आरोप लगाए जा रहे हैं।

वहीं दिल्ली पुलिस ने भी अब तक 25 से ज्यादा संदिग्धों से पूछताछ की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अरोपियों की तलाश में क्राइम ब्रांच ने अपनी जांच तेज करते हुए एनसीआर के कई इलाकों में छापेमारी भी की है।

इस बीच सीबीएसई ने दिल्ली पुलिस को एक महत्वपूर्ण सूचना देते हुए कहा है कि उसे 23 मार्च को दिल्ली के रजिंदर नगर में रहने वाले एक शख्स द्वारा पेपर लीक किए जाने की सूचना फैक्स के माध्यम से मिली थी। यह आरोपी शख्स एक कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाता है।

बता दें कि पेपर लीक मामले की जांच के लिए दिल्ली पुलिस ने क्राइम ब्रांच का एक विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया है। विशेष पुलिस आयुक्त आरपी उपाध्याय के मुताबिक, एसआईटी का नेतृत्व संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार कर रहे हैं। जांच करने वाली एसआईटी में पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) और सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) रैंक के पुलिसकर्मी शामिल हैं।

गौरतलब है कि इसमें पहला मामला मंगलवार शाम दर्ज हुआ था, जिसमें सीबीएसई की 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र विषय के प्रश्न-पत्र लीक होने का मामला था। फिर बुधवार को दर्ज दूसरे मामले में 10वीं के गणित विषय के प्रश्न-पत्र लीक का मामला था। 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा 26 मार्च को, जबकि 10वीं की गणित की परीक्षा बुधवार को हुई थी।

वहीं, पेपर लीक का मामला सामने आने के बाद अब CBSE 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा लेगा। देश-विदेश के सभी परीक्षा केंद्रों में इन विषयों की परीक्षा दोबारा ली जाएगी। परीक्षा तिथि की घोषणा सीबीएसई हफ्ते भर में करेगा। दोनों विषयों का प्रश्नपत्र लीक होने के बाद सीबीएसई ने यह फैसला लिया है।

गणित की परीक्षा रद होने से 10वीं के 16 लाख से अधिक छात्र प्रभावित हुए हैं। पीएम मोदी ने भी पेपर लीक होने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से बात की। उधर, दिल्ली पुलिस ने भी सीबीएसई की शिकायत पर पर्चा लीक मामले में जांच शुरू कर दी है।

बता दें कि सीबीएसई दसवीं व बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं पांच मार्च से शुरू हुईं थीं। 12वीं के विद्यार्थियों ने 26 मार्च को अर्थशास्त्र की परीक्षा दी थी, जबकि 28 मार्च को 10वीं के विद्यार्थियों ने गणित की परीक्षा दी थी, लेकिन दोनों विषयों के प्रश्नपत्र परीक्षा शुरू होने से पहले ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे। इसके बाद सीबीएसई ने परीक्षा की शुचिता और छात्रों के हितों का ध्यान रखते हुए दोनों विषयों की परीक्षा रद कर फिर से कराने का निर्णय लिया। इससे पहले भी 12वीं एकाउंटेंसी का पेपर भी लीक होने की बात कही गई थी, लेकिन बोर्ड ने इसे अफवाह बताया था।

जावड़ेकर ने जताया खेद

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पेपर लीक होने पर खेद जताया है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि यह तय है कि पेपर लीक करने के पीछे कोई गिरोह योजनाबद्ध तरीके से काम कर रहा था, जो जल्द पकड़ा जाएगा। मुझे पता है कि पेपर लीक होना दुखद है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.