भोपाल। मंगलवार को कलेक्टर जनसुनवाई में पहुंची एक छात्रा ने शासकीय विज्ञान एवं वाणिज्य महाविद्यालय (बेनजीर कॉलेज) के प्रोफेसर राजेश खरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए अभद्र टिप्पणी का आरोप लगाया है। वहीं कलेक्ट ने मामले की गंभीरता से लेते हुए तत्काल आवेदन महिला सशक्तिकरण विभाग और पुलिस प्रशासन को भेजा।

छात्रा ने जनसुनवाई में बताया कि प्रोफेसर खरे अकसर चरित्र पर सवाल खड़े करते हुए अभ्रद्र और अपमानजनक टिप्पणी करते हैं। छात्रा ने यह भी बताया कि जिन छात्राओं ने मेरे पक्ष में गवाही देने का प्रयास किया उन पर प्रोफेसर ने इतना दबाव बनाया कि उन्होंने कॉलेज आना तक बंद कर दिया है। इस मामले की शिकायत कॉलेज प्रिंसिपल, महिला आयोग, जहांगीराबाद महिला थाना, विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह, उधा शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया, उधा शिक्षा विभाग के आयुक्त व पुलिस महानिरीक्षक तक से की गई लेकिन कार्रवाई नहीं की गई। कलेक्टर ने छात्रा को कार्रवाई का आश्वासन दिया।

यह भी आई शिकायतें

– स्कूल संचालक दो साल से नहीं दे रहे बधाों की अंकसूची

कोहफिजा निवासी संतोष ने कर्मा स्कूल संचालक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। शिकायती आवेदन में बताया कि मेरे दो बधो रोहित और विकास आज से दो साल पहले कर्मा हाई स्कूल कक्षा 6वीं और 5वीं में पढ़ते थे। आर्थिक तंगी के कारण फीस जमा न करने के चलते स्कूल संचालक ने पिछले दो साल से दोनों बधाों की अंकसूची और टीसी तक नहीं दी है। इससे बधाों के दो साल का भविष्य बर्बाद हो गया है। स्कूल संचालक बढ़ी हुई फीस मांग रहा है,जो देने के लिए मेरे पास उपलब्ध नहीं है। इधर कलेक्टर ने इस शिकायत पर संज्ञान लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) धर्मेद्र शर्मा जांच के निर्देश दिए। डीईओ ने स्कूल संचालक को फोन कर बधाों की अंकसूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

– माय कार कंपनी का सिक्युरिटी ठेकेदार नहीं दे रहा पैसे

राजभवन के समीप स्थित मायकार शोरूम में सिक्युरिटी के ठेकेदार सोनू तिवारी ने 10 सिक्युरिटी कर्मचारियों की मार्च महीने की तनख्वाह न देने का आरोप लगाया है। शिकायत कर्ता माईकल बेठे ने बताया कि पिछले दो सप्ताह से लगातार सोनू को फोन लगाया जा रहा है। लेकिन वह फोन उठाने के बजाय उसे काट रहा है। इधर कंपनी ने उसकी जगह दूसरे ठेकेदार को काम सौंप दिया है और वेतन अटक गया। मामले की शिकायत पुलिस प्रशासन से भी की गई लेकिन नजीता सिफर ही निकला। कलेक्टर ने कार्रवाई का आश्वासन दिया।