हार्ले डेविडसन से संसद पहुंचीं बिहार की MP, सरकार बोली- वुमन बिल पर बनाएंगे आम राय

ranjeetaनई दिल्ली. वुमन्स डे के मौके पर मंगलवार को संसद में भी महिला शक्ति दिखी। संसद की कार्यवाही शुरू होने के बाद राज्यसभा में पहले वुमन मेंबर्स ने स्पीच दी। इस दौरान कांग्रेस की सांसद रंजीत रंजन बाइक से संसद पहुंची। बिहार के सुपौल से सांसद रंजीत हार्ले डेवि़डसन से संसद पहुंची थीं। इस बीच, संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि सरकार वुमेन रिजर्वेशन पर सबको साथ लाने की कोशिश कर रही है। मोदी ने कहा था- महिला दिवस पर सिर्फ महिलाएं बोलें…
– पिछले हफ्ते लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान मोदी ने कहा, ”8 मार्च को विश्व महिला दिवस है। स्पीकर महोदया ने संसद का एजेंडा रखा होगा। लेकिन क्या ऐसा नहीं हो सकता कि उस दिन केवल महिला सदस्यों को बोलने दिया जाए?”
– ”हम अपनी दिन की गतिविधियां जारी रखें, लेकिन उस दिन केवल महिलाएं ही बोलें।”
सोनिया गांधी ने क्या कहा?

– कांग्रेस प्रेसिडेंट ने कहा, ” समाज में महिलाओं को जो दिक्कत हो रही है उसे खत्म करने का साहस दिखाना होगा।”
– ”मौजूदा सरकार को जल्द से जल्द महिला आरक्षण बिल पास करना चाहिए।”
संसद में महिलाएं
– फिलहाल 543 मेंबर वाली लोकसभा में 65 महिला सांसद हैं, 12 फीसदी से भी कम।
– इसी तरह वर्तमान में 241 मेंबर वाली राज्यसभा में कुल 31 महिलाएं है, मतलब 12 फीसदी से थोड़ा ज्यादा।
– महिला सांसदों के मामले में भारत दुनिया में 103वें नंबर पर है।
16th लोकसभा में सबसे ज्यादा महिला सांसद
– 16th लोकसभा में अब तक की सबसे ज्यादा महिला सांसद हैं। लेकिन इस मामले में वर्ल्ड रैकिंग को देखें तो भारत पीछे है।
– 2014 में 188 देशों की लिस्ट में भारत 117वें नंबर पर था। लेकिन 1 फरवरी 2016 की बात करें तो 191 देशों की लिस्ट में भारत 144वें नंबर पर पहुंच गया।
– लोकसभा में 12% जबकि राज्यसभा में 12.8 फीसदी महिला सांसद हैं। हालांकि, ग्लोबल एवरेज 22% है।
– पिछले लोकसभा इलेक्शन (मई 2014) में 62 महिलाएं इलेक्शन जीती थीं। बाइ-इलेक्शंस से चार और महिलाएं इलेक्ट हुईं।
– जून 2014 में 11.4% फीसदी महिला सांसद थीं। अब ये आंकड़ा 12 फीसदी है। इसके बावजूद ग्लोबल लेवल पर भारत की रैंकिंग फिसल रही है।
आज महिला सांसदों को ज्यादा मौका

– मंगलवार यानी 8 मार्च को वुमन्स डे के मौके पर महिला सांसदों को लोकसभा-राज्यसभा में बोलने का ज्यादा मौका मिल रहा है।
– संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि पीएम ने ऐसा करने का सजेशन दिया था। स्पीकर सुमित्रा महाजन ने भी यही राय दी थी।
– ”हम अधिक से अधिक महिला सांसदों को अपनी बात रखने का मौका देने का प्रयास करेंगे।”
– राज्यसभा शुरू होते ही पहले महिला सांसदों ने बात रखी।

Comments are closed.