महेश्वर (खरगोन)। आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज के सुसाइड के बाद एक तरफ जहां पुलिस की जांच और बयानों का दौर जारी है वहीं भय्यू महाराज के परिजन निधन के बाद होने वाली धार्मिक रस्में पूरी कर रहे हैं। गुरुवार को भय्यू महाराज की बेटी कुहू, पत्नी डॉ. आयुषी, परिजन और सेवादार कर्मकांड के लिए महेश्वर पहुंचे।

जानकारी के मुताबिक महेश्वर में नर्मदा तट पर भय्यू महाराज के दशकर्म की विधि पूरी की गई। भय्यू महाराज को मुखाग्नि देने के बाद बेटी कुहू ही उनके निधन के बाद सारी रस्में कर रही हैं। नर्मदा और देश की अन्य प्रमुख नदियों में भय्यू महाराज के अस्थि विसर्जन के बाद महेश्वर में कर्मकांड की विधि की गई। मंत्रोच्चार के बीच बेटी कुहू ने पूरे विधि-विधान के साथ ये रस्में पूरी की।

अब तक की पुलिसि जांच में भय्यू महाराज के सुसाइड का मुख्य कारण बेटी और पत्नी के बीच विवाद ही सामने आया है। दोनों के बीच की ये दूरियां महेश्वर में भी साफ दिखाई दी। भय्यू महाराज के कर्मकांड कार्यक्रम में बेटी कुहू और पत्नी डॉ. आयुषी दोनों ही थे लेकिन पूरे समय दोनों ने आपस में कोई बात नहीं की। यहां तक की दोनों ने एक दूसरे को देखा तक नहीं। दोनों अलग-अलग गाड़ियों से ही महेश्वर पहुंची।

इधर भय्यू महाराज ने अपने और ट्रस्ट के सारे वित्तीय अधिकार अपने खास सेवादार विनायक दुधाले को सौंप दिए थे। भय्यू महाराज के कर्मकांड के दौरान विनायक भी मौजूद था और रस्म के तहत उसने भी मुंडन कराया। विनायक पूरे समय पूजन में कुहू के साथ बैठे नजर आए।

महेश्वर में हुआ भय्यू महाराज का कर्मकांड, यहां भी दिखीं कुहू और आयुषी में दूरियां

महेश्वर में हुआ भय्यू महाराज का कर्मकांड, यहां भी दिखीं कुहू और आयुषी में दूरियां-02