लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एक पासपोर्ट अधिकारी द्वारा एक दंपती के साथ धर्म के आधार पर दुर्व्यवहार करने का मामला सामने आया है। हालांकि, पूरे विवाद के बाद इस दंपती को पासपोर्ट जारी कर दिया गया है। साथ ही जिम्मेदार अधिकारी का ट्रांसफर भी कर दिया है। यह दंपती यहां रिजनल पासपोर्ट ऑफिस पर पासपोर्ट बनवाने गए थे लेकिन यह तैनात अधिकारी ने उन्हें धर्म बदलने को कहा।

दरअसल, अनस सिद्दीकी और तन्वी सेठ अपना पासपोर्ट बनवाने गए थे। लेकिन यहां मौजूद अधिकारी विकास मिश्र ने अनस से कहा कि वो धर्म बदलें और हिंदू रिवाजों से शादी कर आएं जिसके बाद पासपोर्ट जारी हो सकेगा। इस पूरी घटना को तन्वी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया। अनस और तन्वी की शिकायत सामने आने के बाद अधिकारी का ट्रांसफर कर दिया गया है और दोनों को पासपोर्ट जारी कर दिया है।

जानकारी के अनुसार यह पूरी घटना 20 जून की है। अनस के अनुसार हमारे पास सभी वैध कागजात थे। हमने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी ट्वीट किया जिसके बाद हमें रिजनल पासपोर्ट ऑफिसर से मिलने के लिए कहा गया। वहीं तन्वी ने बताया कि अधिकारी ने पासपोर्ट बनाने की बजाय उनके साथ दुर्व्यवहार किया क्योंकि उन्होंने एक मुस्लिम से शादी की थी और अपना नाम नहीं बदला।