नई दिल्ली। उत्तर भारत में जहां भीषण गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा है, तो वहीं पूर्वोत्तर में भारी बारिश लोगों की मुश्किलें बढ़ा सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक, असम, मेघालय, नागालैंड समेत पूर्वोतर के कई राज्यों में भारी बारिश की संभावना है। उधर, दक्षिण भारत में मानसून आने के साथ ही कई इलाकों में तेज बारिश हो रही है। लेकिन उत्तर भारत में गर्मी का प्रकोप बरकरार है।

कर्नाटक में बारिश से कई जगह बाढ़ के हालात –

उत्तर भारत में जहां चिलचिलाती धूप और उमस से लोग परेशान हैं। वहीं, कर्नाटक में इससे उलट तेज बारिश लोगों की परेशानी का सबब बनी हुई है। कर्नाटक में लगातार हो रही बारिश से पिछले 24 घंटे में पांच लोगों की मौत हो गई। यहां के कई इलाकों में 7 सेमी बारिश होने से बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। नदी और नालों का जलस्तर बढ़ गया है। फसलों को भी नुकसान हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिम मानसून दक्षिण के करीब सभी राज्यों, बंगाल की खाड़ी, असम और अरुणाचल प्रदेश में पहुंच गया है।

इन राज्यों में होगी तेज बारिश –

असम, मेघालय, नागालैंड, मिजोरम, त्रिपुरा और अंडोमान व निकोबार, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, तेलंगाना, रायलसीमा, तटीय आंध्र प्रदेश और केरल।

13 राज्यों में आंधी-तूफान के साथ बारिश का अलर्ट –

मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि सोमवार (आज) को तमिलनाडु, तेलंगाना, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, गोवा, अंदरूनी कर्नाटक और तटीय आंध्र प्रदेश में आंधी-तूफान के साथ बारिश हो सकती है।

दक्षिण-पश्चिम मानसून दक्षिण के करीब सभी राज्यों, बंगाल की खाड़ी, असम और अरुणाचल प्रदेश में पहुंच गया है और माना जा रहा है कि अगले दो-तीन दिन में मानसून त्रिपुरा, मेघालय के कुछ हिस्सों, पश्चिम बंगाल के हिमालयी क्षेत्र अौर सिक्किम पहुंच जाएगा।

उत्तर भारत में गर्मी ने मचाया हाहाकार –

वहीं, उत्तर भारत में चिलचिलाती धूप, गर्मी और उमस ने लोगों का हाल बुरा कर रखा है। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार और शनिवार को आंधी के साथ हुई बारिश के बाद गर्मी के तेवर फिर तीखे हो गए। रविवार को महोबा में गर्मी से दो लोगों की मौत हो गई। उधर, दिल्ली में तेज धूप अैार उमस भरी गर्मी का दौर रविवार को भी जारी रहा। जबकि उत्तराखंड में तापमान फिर उछाल पर है।

रविवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अधिकतम तापमान 38.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान 26.6 डिग्री दर्ज किया गया। पूर्वांचल में सूरज के तपन के साथ बादलों की आवाजाही रही। कुछ जिलों में तेज हवाएं चलीं। अधिकांश जिलों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री के आसपास रहा।

उत्तर प्रदेश के 13 जिलों में तूफान का अलर्ट –

इस बीच मौसम विभाग ने रविवार को चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि अगले दो दिनों में यूपी के 13 जिलों में तूफान और धूलभरी आंधी का खतरा बन रहेगा। यूपी के बांदा, चित्रकूट, फतेहपुर, हरदोई, शाहजहांपुर, पीलीभीत, रामपुर, बरेली, मुरादाबाद, बिजनौर, मेरठ, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर जिलों में आंधी-तूफान का खतरा है।

बता दें कि शुक्रवार और शनिवार को आए आंधी और तूफान में यूपी के कई जिलों में तबाही मचाई थी। तूफान और आंधी के चलते 17 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 11 लोग जख्मी हो गए थे।

छत्तीसगढ़ में चढ़ा दिन का तापमान –

प्री मानसून की बौछारों के बीच रविवार को छत्तीसगढ़ के ज्यादातर हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहा। इससे दिन का तापमान चढ़ गया। रायपुर, बिलासपुर समेत राज्य के कई स्थानों पर अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया।

दिल्ली में अभी गर्मी से राहत नहीं –

दिल्ली में रविवार को अधिकतम तापमान 39.7 और न्यूनतम 27.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बुधवार तक ऐसी ही गर्मी बने रहने का अनुमान है। दिल्लीवासियों को उमस भी सहनी होगी और तीखी धूप की चुभन भी। इस दौरान अधिकतम तापमान 40 से 41 डिग्री तक रहने का अनुमान है।

पंजाब में बठिंडा रहा सबसे गर्म –

मौसम विभाग के अनुसार पंजाब के बठिंडा में अधिकतम तापमान सबसे अधिक 40.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार चार व पांच जून को राज्य में सूरज के तेवर तल्ख रहेंगे। इसके बाद मौसम फिर से करवट लेगा।

उत्तराखंड में आंधी के आसार –

तीन दिन बारिश और ओलावृष्टि के बाद उत्तराखंड में तापमान एक बार फिर उछलने लगा है। मैदानों में पारा 37 से 39 डिग्री सेल्सियस के बीच पहुंच गया है, वहीं पहाड़ों के ज्यादातर शहरों में तापमान 30 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया है। मौसम विभाग के अनुसार पांच जून से मौसम फिर करवट बदल सकता है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि मंगलवार और बुधवार को देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर जिलों में आंधी के आसार बन रहे हैं।

हिमाचल में बारिश ने उतारी सूरज की गर्मी –

हिमाचल प्रदेश में बारिश और तूफान आने से जहां मौसम ठंडा हुआ है, वहीं फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। प्रदेश में बीते चार दिनों से कई जगह बारिश से तापमान में गिरावट के साथ राज्य के अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में ठंड बढ़ गई है, जिससे इन क्षेत्रों में जून की तपती दोपहरी के स्थान पर लोगों को राहत महसूस हो रही है। प्रदेश में कुदरत के करिश्मे ने वनों की आग लगने की रफ्तार पर भी रोक लगा दी है। इससे अमूल्य वन संपदा खाक होने से बच रही है।