jackpot city mobile casino app play 888 casino woodbine racetrack casino cuatro online casino caesars casino free slots regent casino swift current casino free coins jackpot party casino slots windsor casino restaurants casino games for free online luxury casino online login is spin palace casino safe thrills casino bus to casino rama from toronto las vegas casino games free online casino nb shows northern light online casino dragon's den online casino

तेलंगाना विधानसभा भंग : CM चंद्रशेखर राव बोले- राहुल जितना यहां आएंगे, उतनी सीटें हम जीतेंगे

0

नई दिल्ली। तेलंगाना विधानसभा भंग हो गई है। गुरुवार को मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने राज्यपाल से मिलकर कैबिनेट के इस फैसले की जानकारी दी। जिसके बाद राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन ने सीएम की इस सिफारिश को मंजूर करते हुए उन्हें नई सरकार के गठन तक बतौर केयरटेकर सीएम जिम्मेदारी संभालने को कहा है।

इस बीच भाजपा से चुनावी गठबंधन की खबरों को लेकर टीआरएस चीफ ने कहा कि, “तेलंगाना राष्ट्र समिति एक धर्मनिरपेक्ष पार्टी है, ऐसे में हम कैसे भाजपा से हाथ मिला सकते हैं।”

सीएम के इस फैसले के बाद से ही राज्य की सियासत गरमा गई है। तेलंगाना के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि, “अब तेलंगाना की जनता खुश होगी, क्योंकि उन्हें निरंकुश और तानाशाह सरकार से छुटकारा मिलेगा।”

वहीं सीएम चंद्रशेखर राव विधानसभा भंग करने के फौरन बाद ही चुनावी तैयारियों में जुटते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि, हम 105 उम्मीदवारों के नाम का आज ही ऐलान करेंगे। इससे साफ हो गया है कि राज्य में अब जल्द चुनाव होंगे।”

इस मौके पर सीएम चंद्रशेखर राव ने राहुल गांधी पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि, “सब जानते हैं कि राहुल गांधी देश के सबसे बड़े विदूषक हैं। सारे देश ने उन्हें देखा है कि, कैसे संसद के भीतर वो नरेंद्र मोदी से जाकर गले मिले और फिर आंख मारी थी। वो हमारे लिए एक पूंजी हैं, वो जितना ज्यादा तेलंगाना में आएंगे, उतनी ही सीटें हम जीतेंगे।”

वहीं चुनाव में गठबंधन से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि, “हम विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेंगे, लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि हमारी एमआईएम से दोस्ती है। 2014 से पहले तेलंगाना में कई सारे मुद्दे थे, जैसे बम धमाके, बिजली की किल्लत, साम्प्रदायिक हिंसा, लेकिन अब हम इससे आजाद हो गए हैं। मैं कांग्रेस नेताओं को चुनौती दे रहा हूं कि वो मैदान पर आएं और चुनाव लड़ें, जहां जनता उन्हें जवाब देगी।”

इस मामले में चुनाव आयोग का भी बयान आया है। चुनाव आयोग ने बताया कि, “हमारे पास इसकी आधिकारिक जानकारी नहीं आई है। जैसे ही हमें आधिकारिक नोटिफिकेशन मिलेगा, तो हम उस पर आगे की कार्रवाई करेंगे

गौरतलब है कि तेलंगाना राज्य का गठन होने के बाद 2014 आम चुनाव के साथ ही तेलंगाना में विधानसभा चुनाव हुए थे। तेलंगाना के साथ ही आंध्र प्रदेश में भी विधानसभा चुनाव हुए थे। इस साल के अंत में मध्य प्रदेश, छत्तीससगढ़, राजस्थान और मिजोरम के विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में इन राज्यों के साथ ही तेलंगाना में विधानसभा चुनाव होने की संभावना दिख रही है।

बता दें कि पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने दिल्ली जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की थी। इसके बाद से ही राज्य में समय पूर्व चुनाव के कयास लगने शुरू हो गए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.