casino classic mobile chances casino kelowna is yukon gold casino legal in canada online casino slot games no download 32 red casino online goldennugget online casino casino live roulette online hardrock casino vancouver shorelines casino peterborough buffet casino de gatineau spectacle seminole casino online casino without wagering requirements gambling casino online bonus grand casino montreal jackpot city flash casino magic casino casino trois rivières skagit valley casino resort

CBI डायरेक्‍टर के घर के बाहर पकड़े गए लोग IB का था स्टाफ, बढ़ी सुरक्षा

0

नई दिल्‍ली। सीबीआई के डायरेक्‍टर आलोक वर्मा के घर से बाहर घुसपैठ की कोशिश में हिरासत में लिए गए चार लोग आईबी के बताए जा रहे हैं। मामले में आए ताजा अपडेट के अनुसार यह चारों लोग आईबी के हैं और हाई सिक्युरिटी झोन होने की वजह से जनपथ पर आईबी का स्टाफ रूटिन में तैनात रहता है। आईबी ने इस मामले में बयान जारी कर कहा है कि वर्मा की कोई जासूसी नहीं कर रहा था।

बता दें कि गुरुवार सुबहर अलोक वर्मा के आवास के बाहर उनके पीएसओ ने चार लोगों को संदिग्ध मान पकड़ा था और उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया था। को हिरासत में लिया गया है। आरोप था ये सभी आलोक वर्मा के घर के बाहर हंगामा कर रहे थे। इसके बाद आलोक वर्मा के निजी सुरक्षा गार्ड उन्‍हें पकड़कर घर के भीतर ले गए और पूछताछ शुरू कर दी। इस बीच दिल्‍ली पुलिस को भी मामले की सूचना दे दी गई। हालांकि, इस घटना के बाद इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा को केंद्र सरकार ने बुधवार को फोर्स लीव पर भेज दिया। इस फैसले के खिलाफ आलोक वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और इस पर सुनवाई करने को सुप्रीम कोर्ट तैयार हो गया है। एम नागेश्‍वर राव को उनकी अनुपस्थिति में सीबीआई का कार्यभार सौंपा गया है।

दिल्ली पुलिस ने चारों संदिग्‍ध लोगों को हिरासत में ले लिया है और पूछताछ कर रही है। खबरों की मानें तो सभी के पास आइबी (इंटेलिजेंस ब्‍यूरो) के कार्ड बरामद हुए। पुलिस ने इन लोगों के पास से कई फोन भी बरामद किए गए हैं, इनके पास जो कार्ड मिले हैं उनमें आईबी के कार्ड के पोस्ट की भी बात बताई जा रही है।

सीबीआई के चीफ आलोक वर्मा और स्‍पेशल डायरेक्‍टर राकेश अस्‍थाना के मचे घमासान के बीच ज्वाइंट डायरेक्टर एम नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाया गया है। अग्रिम आदेशों तक अब सीबीआई का कामकाज नागेश्वर राव ही देखेंगे। आलोक वर्मा और राकेश अस्‍थाना को फोर्स लीव पर भेज दिया गया है। ऐसा लग रहा है कि दोनों अफसरों के बीच अभी खींचतान लंबी चलेगी।

गौरतलब है कि सीबीआई में उजागर हुए कथित घूसकांड के बाद सीवीसी की सिफारिश पर सरकार ने आलोक वर्मा और सीबीआई के स्‍पेशल डायरेक्‍टर राकेश अस्थाना को कुछ समय के लिए छुट्टी पर भेज दिया है। आलोक वर्मा ने सरकार के इस फैसले पर सवाल उठाते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की है, जिसपर शुक्रवार को सुनवाई होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.